CM साय का जशपुर दौर रद्द,बलौदाबाजार में तनाव के बाद सीएम साय ने ली हाईलेवल मीटिंग

ईद Inovative Chhattisgarh CM

बलौदाबाजार। छत्‍तीसगढ़ के बलौदाबाजार उपद्रव को लेकर CM विष्णुदेव साय का जशपुर दौरा रद्द हो गया है। मुख्‍यमंत्री साय बलौदाबाजार मामले में सीएम हाउस में हाईलेवल बैठक ले रहे हैं। बैठक में डिप्टी सीएम विजय शर्मा, अरुण साव समेत समाज के प्रमुख पदाधिकारी मौजूद हैं।

इससे पहले बलौदाबाजार के कलेक्टर-एसपी दफ्तर में तोड़फोड़ व आगजनी के बाद 120 उपद्रवी हिरासत में लिए गए हैं। आरोपितों की तलाश में पुलिस की छापेमारी जारी है। ड्रोन कैमरों से मिले फुटेज के आधार पर आरोपितों की पहचान की जा रही है। प्रदर्शन के आयोजकों से भी पूछताछ की जा रही है। वरिष्ठ पुलिस अधिकारी घटनास्थल पर तैनात हैं।

यह भी देखें: Baloda Bazar Violence: बलौदा बाजार में सतनामी समाज का हिंसक प्रदर्शन, लोगों ने क्रोध में जन्ता और सरकारी मूल्यों का किया नुकसान

पुलिस का दावा है कि हिंसा सुनियोजित थी। आठ हजार की भीड़ में शामिल उपद्रवी पेट्रोल डीजल लेकर आए थे। विपक्ष ने पूरे मामले में सरकार की लापरवाही पर ठीकरा फोड़ा है। इधर, चर्चा है कि बलौदाबाजार एसपी-कलेक्टर पर गाज गिर सकती है। राज्य सरकार ने पूरे घटनाक्रम की जांच के आदेश दिए हैं। सतनामी समाज ने घटना के दूसरे दिन भी सौहार्द बनाए रखने की अपील की है।

CM साय ने लोगों से शांति और सौहार्द बनाए रखने की अपील की बलौदाबाजार में धारा 144 लागू

छत्‍तीसगढ़ के बलौदाबाजार जिले में सतनामी समाज के उग्र प्रदर्शन के सरकार एक्‍शन में आ गई है। जिले में धारा 144 लागू कर दी गई है। इधर, मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय ने लोगों से शांति और सौहार्द बनाए रखने की अपील की। उन्‍होंने सामाजिक सौहार्द बिगाड़ने वालों पर कड़ी कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं।

बलौदा बाजार में सतनामी समाज के बवाल के बाद उपमुख्यमंत्री(Deputy CM) विजय शर्मा, मंत्री दयाल दास बघेल, मंत्री टंकराम वर्मा देर रात घटनास्थल का जायजा लेने कलेक्टररेट परिसर पहुंचे। उपमुख्यमंत्री ने घटना स्थल का निरीक्षण किया।

बलौदाबाजार में पिछले 17 मई से चल रहा सतनामी समाज का प्रदर्शन सीबीआइ जांच की मांग को लेकर सोमवार शाम को उग्र हो गया। प्रदर्शनकारियों ने सोमवार की शाम कलेक्टर और एसपी कार्यालयों में आग लगा दी। पथराव किया, 200 से अधिक दोपहिया और करीब 50 चारपहिया वाहनों को फूंक दिया। इससे दोनों कार्यालयों में रखे अनेक महत्वपूर्ण दस्तावेज भी नष्ट हो गए।

यह भी देखें: नरेंद्र मोदी ने तीसरी बार ली प्रधानमंत्री पद की शपथ

प्रदर्शनकारियों ने लगभग एक घंटे तक बलौदाबाजार कलेक्टर परिसर व शहर के कई इलाकों में तोड़फोड़ की। भीड़ को काबू में करने के लिए पुलिस ने लाठीचार्ज किया। पुलिस ने कुछ उपद्रवियों को हिरासत में लिया है। मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय ने मुख्य सचिव अमिताभ जैन तथा पुलिस महानिदेशक अशोक जुनेजा से वहां के हालात की जानकारी ली।

शांति और सौहार्द बनाए रखें : CM साय

मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय ने लोगों से शांति और सौहार्द बनाए रखने की अपील की। इसके साथ ही आइजी व कमिश्नर को तत्काल घटनास्थल पर भेजा। इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने मुख्य सचिव और डीजीपी को तलब कर घटना की प्रारंभिक जानकारी ली एवं रिपोर्ट भी मंगाई है। उन्होंने कहा कि गिरौदपुरी की अमर गुफा मामले में पूर्व में ही न्यायिक जांच के लिए गृहमंत्री विजय शर्मा को निर्देशित किया जा चुका है। सामाजिक सौहार्द बिगाड़ने वालों पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

बलौदाबाजार आगजनी मामले में कलेक्टर केएल चौहान और एसपी सदानंद कुमार उच्चाधिकारियों की बैठक ले रहे हैं. अलग-अलग विभागों के अधिकारियों के साथ कलेक्टर सभा कक्ष में बैठक कर आगजनी में हुए नुकसान का आंकलन किया जा रहा है. कलेक्टर केएल चौहान ने बताया आगजनी की घटना को अंजाम देने वाले 200 से ज्यादा लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है. उनकी पहचान की जा रही है.

बलौदाबाजार में हालात फिलहाल काबू में हैं, लेकिन पूरे शहर में भारी मात्रा में पुलिस बल की तैनाती की गई है. इसके साथ ही रायपुर से फोरेंसिक की 5 सदस्यीय टीम बलौदाबाजार पहुंची है. आगजनी में किन किन चीजों का उपयोग हुआ है इसकी जांच की जा रही है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here