भाजपा नेताओं को भेंट मुलाकात का मतलब ही नहीं मालूम

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जनता को सूचना देकर भेंट मुलाकात कर रहे हैं रमन सिंह तो जनता से भागते थे

रायपुर,

भाजपा के द्वारा भेंट मुलाकात को प्रायोजित बताने पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि भाजपा नेताओं को तो भेंट मुलाकात का मतलब ही नहीं मालूम है। पूर्व भाजपा सरकार के दौरान तो रमन सिंह और उनका मंत्रिमंडल चोरी छिपे पहुँचते थे, उनके वापस जाने के बाद जनता को पता चलता था कि रमन सिंह आये थे। रमन सिंह जब विकास यात्रा करते थे तो जनता उन तक पहुंच ही नहीं पाती थी उनके ब्लेक कैट कमांडो जनता को दूर से ही खदेड़ देते थे। असल में पूर्व के रमन सरकार के दौरान मंत्रियों का दौरा कब, किस गांव में होगा? इसे बताने से डरते थे? क्योंकि रमन सरकार के कुशासन, भ्रष्टाचार, कमीशन खोरी, प्रशासनिक अराजकता और वादाखिलाफी के चलते जनता में भारी आक्रोश था। जनता व्यथित और प्रताड़ित रहती थी और रमन सरकार को पता था सूचना देकर जनता के बीच जाने से उन्हें भारी विरोध का सामना करना पड़ेगा। रमन सिंह के विकास यात्रा के दौरान छत्तीसगढ़ ने देखा है किस प्रकार से उसके विकास यात्रा में समस्या रखने वाले स्कूल बच्चों पर लाठियां बरसाई गई थी। मूलभूत की सुविधाएं मांगने वाले जनता को सलाखों के पीछे भेजा गया था। किसानों, युवाओं, महिलाओं के ऊपर लाठीचार्ज किया गया और विकास यात्रा के पहले स्थानीय जनप्रतिनिधि को पुलिस उठाकर थाने में बैठा देती थी।

प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि भेंट मुलाकात का मतलब ही लोगों को सूचित कर, आमंत्रित कर, उनसे मुलाकात करने जाना है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जिस विधानसभा क्षेत्र के गांव में जाकर भेंट मुलाकात कर रहे हैं पूर्व सूचना होने के चलते जनता का भारी भीड़ है। जनता अपनी समस्याओं को लेकर मुख्यमंत्री के सामने अपनी बात रख रहे हैं और मुख्यमंत्री भूपेश बघेल उनके समस्याओं का निराकरण कर रहे हैं। भेंट मुलाकात की पूर्व सूचना होने के कारण एक माता को अपने बच्चे के ब्रेन ट्यूमर के इलाज के लिए 4 लाख रु की सहायता राशि मिल पाई। स्कूल की दूरी की समस्या को लेकर आए छात्रों को हॉस्टल की सुविधा मिला और गैरजिम्मेदार अधिकारी कर्मचारी के खिलाफ किसान और आम जनता ने शिकायत की, तो उस पर कार्यवाही हुई। भाजपा के नेता पहले भेंट मुलाकात का मतलब समझ लें फिर बयानबाजी करें। हवा में बात करना और झूठे बात करना भाजपा नेताओं का चरित्र है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here