धरम लाल कौशिक का शिक्षकों शराबी बताये जाना निंदनीय माफी मांगे भाजपा

रायपुर,

नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक के प्रदेश के शिक्षकों को शराब पीकर झूमते डोलते क्लास में आने वाले बयान की निंदा करते हुए प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि भाजपा के नेता बदजुबानी बयानबाजी के लिए जाने जाते हैं नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक एक महत्वपूर्ण जिम्मेदारी का निर्वहन कर रहे हैं। उसके बावजूद उन्होंने एक गैर जिम्मेदाराना बयान देकर प्रदेश के समस्त शिक्षकों का अपमान किया है शिक्षकों को शराबी घोषित किया है प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक को  शिक्षकों को शराब पीकर क्लास रूम में आने वाले बयान के लिए प्रदेश के  शिक्षकों से माफी मांगना चाहिये। ये वही शिक्षक है जो कोविड के दौरान जब महामारी का खतरा था जब सभी को एक दूसरे से दूरियां बनानी थी स्कूल कालेज बन्द थे तब भी ऑनलाइन माध्यम, मोहल्ला क्लास एवं अन्य माध्यमों से पेड़ के नीचे चबूतरा में तो गांव में लाउडस्पीकर लगाकर घरों में रह रहे बच्चों को पढ़ाई कराये है।ऐसे कठिन समय में भी अपने कर्तव्यों का निर्वहन किये और प्रदेश के आने वाले भविष्य को संवारने का काम किये है।

प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि यह पहला अवसर नहीं है जब भाजपा के नेताओं ने किसी वर्ग को अपमानित करने वाला बयान बाजी किया हो। इसके पहले भाजपा की प्रदेश प्रभारी डी पुरंदेश्वरी ने छत्तीसगढ़ की जनता की चुनी हुई सरकार को थूक कर बहाने की बात कर छत्तीसगढ़ के ढाई करोड़ जनता का अपमान किया था।किसान आंदोलन के दौरान आंदोलन में शामिल किसानों को सांसद संतोष पांडे ने नक्सली बताया था कोविड-19 के समय सांसद सुनील सोनी ने एम्स में इलाज करा रहे एक वर्ग विशेष के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी किया था पूर्व मंत्री भाजपा प्रवक्ता राजेश मूणत ने पुलिसकर्मियों के साथ अभद्र व्यवहार किया था अजय चंद्राकर गोबर खरीदी योजना के दौरान राजकीय चिन्ह का अपमान किया था। ये भाजपा नेताओं का असल चरित्र ही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here